Breaking :
||गैंगेस्टर अमन श्रीवास्तव गैंग का शूटर राजू शर्मा बिहार से गिरफ्तार||Jharkhand: प्रेमी ने पांच माह की गर्भवती प्रेमिका को गला दबाकर मार डाला||कोयला लदे हाइवा व ट्रक की भीषण टक्कर में दोनों चालकों की दर्दनाक मौत||रांची: असामाजिक तत्वों ने मेन रोड स्थित हनुमान मंदिर में की तोड़फोड़, प्रतिमा क्षतिग्रस्त||बालूमाथ: वज्रपात की चपेट में आने से पत्नी की मौत, पति समेत दो घायल||पातम-डाटम जलप्रपात में डूबे दोनों युवकों के शव बरामद, प्रशासनिक उदासीनता से ग्रामीणों में आक्रोश||तीन माह की गर्भवती महिला से छह अपराधियों ने पति के सामने किया सामूहिक दुष्कर्म, सभी आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: माइंस खोलने को लेकर भूमि पूजन करने मंगरा गांव पहुंची डीवीसी कंपनी का विरोध, दो पक्षों में जमकर मारपीट, आधा दर्जन लोग घायल||लातेहार: नाबालिग से दुष्कर्म कर बनाया वीडियो, वायरल करने की धमकी दे करता रहा दुष्कर्म, ग्रामीणों ने पिटायी कर पुलिस को सौंपा||BREAKING: बालूमाथ में मधुमक्खियों ने फिर किया हमला, एक आदिवासी महिला की मौत, छह घायल

ATS ने गैंगेस्टर अमन गिरोह के गुर्गे को 32 लाख रुपये के साथ किया गिरफ्तार

'

aman sahu gangster

रांची: शनिवार को झारखंड एटीएस को बड़ी कामयाबी मिली है। एटीएस की टीम ने श्रीवास्तव गैंग के शातिर अपराधी को गिरफ्तार किया है। साथ ही उसकी निशानदेही पर एटीएस ने उसके घर से 32 लाख रुपये बरामद किये हैं।

दरअसल, पिछले कुछ दिनों में आतंकवाद निरोधी दस्ते (ATS) ने अमन श्रीवास्तव गिरोह के कुछ गुर्गों को गिरफ्तार किया था। एटीएस ने उसके खिलाफ मामला भी दर्ज किया है। इन मामलों की जांच के क्रम में अमन श्रीवास्तव गिरोह का फंडिंग, आर्थिक व्यवस्था, हवाला चैनल और अपराध से उनके द्वारा अर्जित संपत्ति का पता चला।

जांच के बाद टीम ने चार फरवरी को रातू थाना क्षेत्र के चटकपुर से गिरोह के अहम गुर्गे संदीप प्रसाद उर्फ ​​अविनाश उर्फ ​​विनोद उर्फ ​​आशीष उर्फ ​​प्रमोद को गिरफ्तार किया। उसके कहने पर एटीएस ने रातू चटकपुर स्थित उसके घर से रंगदारी के तौर पर 32 लाख रुपये बरामद किए। 05 मोबाइल फोन, 01 राउटर और 02 एटीएम कार्ड भी बरामद किए गए।

एटीएस की गिरफ्त में आया संदीप पहले भी अमन साहू गैंग के लिए काम करता था। वह गिरोह के लिए रंगदारी और वसूली का हिसाब रखता था, साथ ही हवाला माध्यम और बैंक खातों के जरिए अमन साहू और उसके गिरोह के अन्य सदस्यों को पैसे ट्रांसफर करता था। बाद में संदीप अमन श्रीवास्तव के संपर्क में आया और फिर उसके लिए काम करना शुरू कर दिया।

जानकारी के अनुसार संदीप की गिरफ्तारी से अमन श्रीवास्तव गिरोह के सदस्यों, रंगदारी और उसके बंटवारा का स्रोत, गिरोह द्वारा हाल के दिनों में किए गए कांडों और हवाला नेटवर्क के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिलेगी।

झारखंड में संगठित आपराधिक गिरोहों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने और इन गिरोहों, वित्तीय स्रोतों, हवाला चैनलों और उनके द्वारा अपराध से अर्जित संपत्ति का पता लगाने और ऐसे आपराधिक कृत्यों में शामिल अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए डीजीपी द्वारा एटीएस कोनिर्देशित किया गया था।

तब से लेकर अब तक झारखंड, बिहार, कर्नाटक सहित अन्य राज्यों में अमन श्रीवास्तव गिरोह के आपराधिक नेटवर्क के खिलाफ आतंकवाद निरोधी दस्ते द्वारा छापेमारी की गई, जिसमें महत्वपूर्ण सफलता हासिल हुई है।

aman sahu gangster

https://thenewssense.in/category/latehar

https://www.facebook.com/newssenselatehar


Leave a Reply

Your email address will not be published.