Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

दबंगों ने दलित परिवार को पीटा, जान से मारने की दी धमकी, सुरक्षा की लगाई गुहार

balumath breaking news

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : बालूमाथ थाना क्षेत्र के बुकरू ग्राम निवासी विजय गंझू पिता पांडे गंझू ने बालूमाथ थाना में आवेदन देकर मारपीट व जान से मारने की धमकी देने का प्राथमिकी दर्ज करायी है।

दिये गये आवेदन में विजय गंझू ने बताया है कि दीप नारायण यादव पिता मूल यादव ग्राम बुकरू, बबलू यादव पिता पन्नू यादव ग्राम चट्टी टोंगरी, तालकेश्वर यादव पिता स्वर्गीय सोबरन यादव ग्राम सेरेगड़ा, मोहम्मद अरबाज पिता मोहम्मद आरिफ ग्राम पकरी थाना बालूमाथ समेत सात आठ लोग स्कॉर्पियो एवं क्रेटा गाड़ी से मेरे घर आये और कहा कि तुमने अपने ट्रैक्टर से अभी तक बालू क्यों नहीं दिया है।

जब हमने कहा कि ट्रैक्टर अभी खाली नहीं है तो उन्होंने कहा कि गंझू हरिजन का क्या औकात है। इस पर मैंने और मेरे परिवार वालों ने विरोध किया तो दीप नारायण यादव ने अपनी क्रेटा कार से पिस्तौल निकाली और हमें पीटना शुरू कर दिया और धमकी दी कि तुम लोग नहीं जानते कि हम पीएलएफआई उग्रवादी हैं। मेरा रिकॉर्ड पता कर लो।

इसी बीच दीप नारायण यादव व उनके साथियों ने मानव देवी पति अकाल गंझू, सोनिया देवी पति विजय गंझू, रीना देवी पति हरि लाल गंझू, मंजू देवी पति परमेश्वर गंझू समेत कई लोगों को लाठियों से पीटा और नरसंहार की धमकी दी।

आवेदन में विजय गंझू ने थाना प्रभारी से गुहार लगाते हुए कहा है कि हम पिछड़े और दलित परिवार के लोग हैं, दीप नारायण यादव पहले भी उग्रवादी थे, हमें संदेह है कि वह किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं।

घटना के बाद बुकरू गांव के दर्जनों महिलाएं व पुरुष डर के मारे अपने गांव छोड़कर थाने पहुंचे और न्याय की गुहार लगाई।

महिलाओं ने कहा कि जब तक पुलिस हमें इंसाफ नहीं देगी या सुरक्षा के इंतजाम नहीं करेगी तब तक हम गांव में कैसे रह सकते हैं।

इस संबंध में थाना प्रभारी धर्मेंद्र कुमार महतो ने कहा कि आवेदन प्राप्त हुआ है। मामले की जांच की जा रही है।

balumath breaking news


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *