Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरबालूमाथलातेहार

दबंगों ने दलित परिवार को पीटा, जान से मारने की दी धमकी, सुरक्षा की लगाई गुहार

balumath breaking news

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : बालूमाथ थाना क्षेत्र के बुकरू ग्राम निवासी विजय गंझू पिता पांडे गंझू ने बालूमाथ थाना में आवेदन देकर मारपीट व जान से मारने की धमकी देने का प्राथमिकी दर्ज करायी है।

दिये गये आवेदन में विजय गंझू ने बताया है कि दीप नारायण यादव पिता मूल यादव ग्राम बुकरू, बबलू यादव पिता पन्नू यादव ग्राम चट्टी टोंगरी, तालकेश्वर यादव पिता स्वर्गीय सोबरन यादव ग्राम सेरेगड़ा, मोहम्मद अरबाज पिता मोहम्मद आरिफ ग्राम पकरी थाना बालूमाथ समेत सात आठ लोग स्कॉर्पियो एवं क्रेटा गाड़ी से मेरे घर आये और कहा कि तुमने अपने ट्रैक्टर से अभी तक बालू क्यों नहीं दिया है।

जब हमने कहा कि ट्रैक्टर अभी खाली नहीं है तो उन्होंने कहा कि गंझू हरिजन का क्या औकात है। इस पर मैंने और मेरे परिवार वालों ने विरोध किया तो दीप नारायण यादव ने अपनी क्रेटा कार से पिस्तौल निकाली और हमें पीटना शुरू कर दिया और धमकी दी कि तुम लोग नहीं जानते कि हम पीएलएफआई उग्रवादी हैं। मेरा रिकॉर्ड पता कर लो।

इसी बीच दीप नारायण यादव व उनके साथियों ने मानव देवी पति अकाल गंझू, सोनिया देवी पति विजय गंझू, रीना देवी पति हरि लाल गंझू, मंजू देवी पति परमेश्वर गंझू समेत कई लोगों को लाठियों से पीटा और नरसंहार की धमकी दी।

आवेदन में विजय गंझू ने थाना प्रभारी से गुहार लगाते हुए कहा है कि हम पिछड़े और दलित परिवार के लोग हैं, दीप नारायण यादव पहले भी उग्रवादी थे, हमें संदेह है कि वह किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं।

घटना के बाद बुकरू गांव के दर्जनों महिलाएं व पुरुष डर के मारे अपने गांव छोड़कर थाने पहुंचे और न्याय की गुहार लगाई।

महिलाओं ने कहा कि जब तक पुलिस हमें इंसाफ नहीं देगी या सुरक्षा के इंतजाम नहीं करेगी तब तक हम गांव में कैसे रह सकते हैं।

इस संबंध में थाना प्रभारी धर्मेंद्र कुमार महतो ने कहा कि आवेदन प्राप्त हुआ है। मामले की जांच की जा रही है।

balumath breaking news


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *