Breaking :
||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख||चतरा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भारी मात्रा में सामान और हथियार बरामद||लातेहार: दशहरा व दुर्गा पूजा को लेकर मिठाई व फास्ट फूड दुकानों की हुई जांच, पांच दुकानों पर कार्रवाई, लगा जुर्माना||पलामू सिविल सर्जन 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, बिल भुगतान के एवज में मांगी थी रिश्वत

दबंगों ने दलित परिवार को पीटा, जान से मारने की दी धमकी, सुरक्षा की लगाई गुहार

'

balumath breaking news

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : बालूमाथ थाना क्षेत्र के बुकरू ग्राम निवासी विजय गंझू पिता पांडे गंझू ने बालूमाथ थाना में आवेदन देकर मारपीट व जान से मारने की धमकी देने का प्राथमिकी दर्ज करायी है।

दिये गये आवेदन में विजय गंझू ने बताया है कि दीप नारायण यादव पिता मूल यादव ग्राम बुकरू, बबलू यादव पिता पन्नू यादव ग्राम चट्टी टोंगरी, तालकेश्वर यादव पिता स्वर्गीय सोबरन यादव ग्राम सेरेगड़ा, मोहम्मद अरबाज पिता मोहम्मद आरिफ ग्राम पकरी थाना बालूमाथ समेत सात आठ लोग स्कॉर्पियो एवं क्रेटा गाड़ी से मेरे घर आये और कहा कि तुमने अपने ट्रैक्टर से अभी तक बालू क्यों नहीं दिया है।

जब हमने कहा कि ट्रैक्टर अभी खाली नहीं है तो उन्होंने कहा कि गंझू हरिजन का क्या औकात है। इस पर मैंने और मेरे परिवार वालों ने विरोध किया तो दीप नारायण यादव ने अपनी क्रेटा कार से पिस्तौल निकाली और हमें पीटना शुरू कर दिया और धमकी दी कि तुम लोग नहीं जानते कि हम पीएलएफआई उग्रवादी हैं। मेरा रिकॉर्ड पता कर लो।

इसी बीच दीप नारायण यादव व उनके साथियों ने मानव देवी पति अकाल गंझू, सोनिया देवी पति विजय गंझू, रीना देवी पति हरि लाल गंझू, मंजू देवी पति परमेश्वर गंझू समेत कई लोगों को लाठियों से पीटा और नरसंहार की धमकी दी।

आवेदन में विजय गंझू ने थाना प्रभारी से गुहार लगाते हुए कहा है कि हम पिछड़े और दलित परिवार के लोग हैं, दीप नारायण यादव पहले भी उग्रवादी थे, हमें संदेह है कि वह किसी बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं।

घटना के बाद बुकरू गांव के दर्जनों महिलाएं व पुरुष डर के मारे अपने गांव छोड़कर थाने पहुंचे और न्याय की गुहार लगाई।

महिलाओं ने कहा कि जब तक पुलिस हमें इंसाफ नहीं देगी या सुरक्षा के इंतजाम नहीं करेगी तब तक हम गांव में कैसे रह सकते हैं।

इस संबंध में थाना प्रभारी धर्मेंद्र कुमार महतो ने कहा कि आवेदन प्राप्त हुआ है। मामले की जांच की जा रही है।

balumath breaking news


Leave a Reply

Your email address will not be published.