Breaking :
||झारखंड में Suo-Moto Online Mutation की ऐतिहासिक शुरुआत, अब जमीन रजिस्ट्री के बाद म्यूटेशन के लिए नहीं देना पड़ेगा आवेदन||झारखंड प्रशासनिक सेवा के 14 अधिकारियों को मिली अपर सचिव के पद पर पदोन्नति||लातेहार: कब्र से निकाले गये शव की गुत्थी महुआडांड़ पुलिस ने सुलझाया, सास, ससुर व साले ने पीट-पीटकर की थी हत्या||लातेहार: आदिवासी मुख्यमंत्री के कार्यकाल में आदिवासी की मौत के बाद नहीं मिली एंबुलेंस, ठेले पर ले गया शव||पलामू में भाकपा माओवादी के सब जोनल कमांडर नारायण यादव गिरफ्तार||चतरा में भाकपा माओवादी के एरिया कमांडर ने किया पुलिस के सामने सरेंडर||लातेहार: सात दिन पूर्व दफनाये गये शव को महुआडांड़ पुलिस ने कब्र से निकलवाया, हत्या की आशंका||लातेहार : गैंगस्टर गोपाल शार्क शूटर के नाम से पोस्टर चस्पा कर दी चेतावनी, सभी को देनी होगी रंगदारी, दो दिन लातेहार व चंदवा बंद रखने की धमकी||लातेहार में उग्रवादी संगठन JJMP के सबजोनल कमांडर समेत दो गिरफ्तार, हथियार बरामद||झारखंड निकाय चुनाव में ओबीसी को आरक्षण नहीं देने के मामले में सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस

बरवाडीह : रोक के बावजूद शेड निर्माण कार्य शुरू करने से ग्रामीणों में आक्रोश, कार्रवाई की मांग

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड की छेछा पंचायत अंतर्गत जिला परिषद की राशि से कब्रिस्तान शेड निर्माण का कार्य विवादों में चल रहा है। भूमि विवाद को लेकर ग्रामीणों की शिकायत के बाद अंचलाधिकारी राकेश सहाय द्वारा 1 माह पूर्व शेड का निर्माण कार्य बंद करने का आदेश दिया गया था। साथ ही जांच के भी आदेश दिए गए थे।

रोक के बावजूद एक सप्ताह पूर्व स्थानीय मुखिया और पंचायत समिति सदस्य के द्वारा निजी स्तर पर बैठक करते हुए निर्माण कार्य को चालू करने का आदेश दे दिया गया। जिसके बाद संवेदक के द्वारा पूर्व के निर्माण स्थल से कुछ दूर हटकर निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया।

निर्माण कार्य शुरू होने के बाद एक बार फिर ग्रामीणों में निर्माण कार्य के प्रति नाराजगी बढ़ने लगी और सोमवार को ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ ही जिला उपायुक्त को पत्र लिखा। जिसकी प्रति स्थानीय अनुमंडल पुलिस अधिकारी और अंचल अधिकारी को देते हुए निर्माण कार्य को पूरी तरह से रोककर भूमि का सत्यापन कराने की मांग की गई है।

ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि पंचायत के मुखिया और पंचायत समिति के द्वारा बिना किसी को जानकारी दिए कुछ लोगों के साथ मिलकर निर्माण कार्य शुरू कराने की सहमति दी गई है, जो ग्रामीणों के हित में गलत है। जब शेड का निर्माण कार्य कब्रिस्तान के लिए है तो उसे कब्रिस्तान के अंदर बनाया जाना चाहिए। लेकिन संवेदक के द्वारा कब्रिस्तान के अंदर ना बनाकर उसे देव स्थल की भूमि में बनाने का काम किया जा रहा है।

शिकायत करने वालों में आनंद कुमार सिंह, जयपाल प्रसाद, उमेश सिंह, अंकल सिंह, अनिल सिंह, सत्येंद्र कुमार, रामनरेश सिंह, अशोक सिंह, भोला सिंह, शिवम राम, सुरेश सिंह समेत काफी संख्या में ग्रामीण शामिल हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *