Breaking :
||पलामू में बिजली गिरने से तीन किशोर की मौत, बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे छिपे थे||रांची में करंट लगने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत, तिरंगा लगाने के दौरान हुआ हादसा||15 अगस्त को झारखंड के 26 पुलिसकर्मियों को विभिन्न सेवाओं के लिए मेडल||रांची में नकली नोटों के तस्कर को पकड़ने गई दिल्ली पुलिस पर ग्रामीणों ने किया हमला, बनाया बंधक||झारखंड जल्द होगा सूखाग्रस्त घोषित, सभी मापदंडों पर तैयार हो रही रिपोर्ट||लातेहार: विद्यालय से उर्दू शब्द हटाए जाने पर मुस्लिम समुदाय में आक्रोश, किया प्रदर्शन||मुख्य धारा में लौटे नक्सलियों के सम्मान समारोह में अधिकारियों ने कहा- सरकार की सेरेंडर पॉलिसी का लाभ उठाएं नक्सली||लातेहार : खेत में धान बो रहे किसान पर गिरी बिजली, पति-पत्नी की मौके पर ही मौत||झारखंड भाजपा को मिलेगा नया प्रदेश अध्यक्ष, नियुक्ति को लेकर कई नामों पर चर्चा||अब झारखंड के बिजली उपभोक्ताओं को मिलेगी 100 यूनिट मुफ्त बिजली

पलामू में बस और बाइक की टक्कर में बाइक सवार तीन युवकों की दर्दनाक मौत

'

पलामू : हरिहरगंज थाना क्षेत्र के ढाब चौखटवा मोड़ के पास एनएच 98 पर शाम को विपरीत दिशा से आ रही पल्सर बाइक (जेएच 03 एजी 2822) से एक यात्री बस (बीआर 24पी 3351) टकरा गई। इस हादसे में बाइक सवार तीन युवकों की दर्दनाक मौत हो गई।

मृतकों में औरंगाबाद जिले के कुटुम्बा थाना अंतर्गत गांव कंचनपुर निवासी मुकेश पासवान (21 वर्ष), छतरपुर थाना के गुरदी गांव निवासी पंकज पासवान (23 वर्ष) और रामसुधुवा गांव निवासी सूरज पासवान (20 वर्ष) शामिल हैं। तीनों मृतक आपस में रिश्तेदार हैं।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

ग्रामीणों के अनुसार पल्सर बाइक पर सवार उक्त तीनों युवक हरिहरगंज से छतरपुर की ओर जा रहे थे। चौखटवा मोड़ के पास एनएच 98 पर छतरपुर से तेज गति से आ रही बिहार परिवहन सेवा नाम की बस ने बाइक को जोरदार टक्कर मार दी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक टक्कर इतनी जोरदार थी कि बाइक बस के साथ कुछ दूर तक घिसटते चली गयी।। इस हादसे में बाइक सवार पंकज पासवान की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि सीएचसी में इलाज के दौरान मुकेश और सूरज की मौत हो गई।

पुलिस ने दुर्घटनाग्रस्त बस को जब्त कर लिया है। साथ ही चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है। उधर, हादसे की सूचना मिलते ही मृतक के परिजन शव से लिपट कर रो रहे थे। वहीं गुस्साए लोगों ने सड़क जाम करने की कोशिश की। लेकिन एसआई निरंजन कुमार, सुमित कुमार दास, सोनू कुमार, एएसआई भूपेंद्र सिंह की समझाने से मामला शांत हुआ।