Breaking :
||कोयला लदे हाइवा व ट्रक की भीषण टक्कर में दोनों चालकों की दर्दनाक मौत||रांची: असामाजिक तत्वों ने मेन रोड स्थित हनुमान मंदिर में की तोड़फोड़, प्रतिमा क्षतिग्रस्त||बालूमाथ: वज्रपात की चपेट में आने से पत्नी की मौत, पति समेत दो घायल||पातम-डाटम जलप्रपात में डूबे दोनों युवकों के शव बरामद, प्रशासनिक उदासीनता से ग्रामीणों में आक्रोश||तीन माह की गर्भवती महिला से छह अपराधियों ने पति के सामने किया सामूहिक दुष्कर्म, सभी आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: माइंस खोलने को लेकर भूमि पूजन करने मंगरा गांव पहुंची डीवीसी कंपनी का विरोध, दो पक्षों में जमकर मारपीट, आधा दर्जन लोग घायल||लातेहार: नाबालिग से दुष्कर्म कर बनाया वीडियो, वायरल करने की धमकी दे करता रहा दुष्कर्म, ग्रामीणों ने पिटायी कर पुलिस को सौंपा||BREAKING: बालूमाथ में मधुमक्खियों ने फिर किया हमला, एक आदिवासी महिला की मौत, छह घायल||लातेहार: पातम-डाटम जल प्रपात घूमने आये दो युवकों की नहाने के दौरान नदी में डूबने से मौत||पाकुड़ में करंट लगने से बाप-बेटे की मौत, बेटे को बचाने में गयी पिता की जान

लातेहार : The News Sense की मुहीम लाया रंग, दिव्यांग गोपाल के कैंसर पीड़ित बच्चे का दिल्ली एम्स में इलाज शुरू

'

लातेहार : आपके न्यूज पोर्टल The News Sense के प्रयास से सदर प्रखंड के भुसूर पंचायत के सिंजो गांव निवासी दिव्यांग गोपाल प्रसाद के कैंसर पीड़ित बच्चे का इलाज एम्स नई दिल्ली में शुरू हो गया है।

आपको बता दें की कि दिव्यांग गोपाल अपने कैंसर पीड़ित बच्चे की इलाज के लिए दर-दर भटक रहा था। इसी बीच उसे एक पुराने सहयोगी पत्रकार मित्र की याद आई और वह भागा-भागा उस पत्रकार मित्र की घर पहुंचा और आपबीती सुनाई। ये पत्रकार मित्र कोई और नहीं आपके न्यूज पोर्टल The News Sense का एडमिन था।

दिव्यांग गोपाल की परेशानियों को समझते हुए The News Sense ने उसके कैंसर पीड़ित बच्चे की इलाज में मदद करने की ठान ली और एक मुहीम के तहत पहली बार उस बच्चे की खबर पोर्टल पर प्रमुखता से प्रकाशित किया। जिसपर झारखड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और कल्याण मंत्री चंपई सोरेन ने संज्ञान लिया और बच्चे को हर संभव मदद पहुंचाने का निर्देश लातेहार डीसी अबु इमरान को दिया।

लातेहार डीसी ने इसे गंभीरता से लेते हुए उसी दिन दिव्यांग गोपाल के घर मेडिकल टीम भेजकर उसकी जांच कराई और मौके पर बच्चे का आयुष्मान कार्ड बनवाया। मेडिकल टीम की सलाह पर दूसरे दिन डीसी अबु इमरान ने एम्बुलेंस के माध्यम से बच्चे को रांची के प्रसिद्ध आँख के डॉक्टर कश्यप के यहां भेजा जहां जांच के बाद बच्चे को बेहतर इलाज के लिए एम्स नई दिल्ली रेफर कर दिया गया।

इसके बाद डीसी ने बच्चे को पुनः जांच के लिए रिम्स रांची भेजा। लेकिन रिम्स के चिकित्सकों की लापरवाही की वजह से उसकी जांच नहीं हो सकी और वह वापस लौट गया। इस बीच कुछ समय की बर्बादी हुई और बच्चे की बीमारी बढ़ गई। जिसकी सूचना दिव्यांग गोपाल ने The News Sense के एडमिन को दी। जानकारी मिलने के बाद पुनः लातेहार स्वास्थ्य विभाग से संपर्क किया गया और दूसरे ही दिन बच्चे को दुबारा एम्बुलेंस की सहायता से रिम्स रांची भेजा गया। जहां जांच के बाद रिम्स के चिकित्सकों ने भी बच्चे को एम्स के लिए रेफर कर दिया।

अब समस्या थी कि दिव्यांग गोपाल (नेत्रहीन) अपने बच्चे को इलाज के लिए लेकर एम्स कैसे पहुंचेगा। The News Sense के एडमिन ने उसके गांव के कई लोगों को उसके साथ जाने की सिफारिस की लेकिन कोई तैयार नहीं हुआ। इसी बीच दिव्यांग गोपाल का एक पुराना मित्र उसके साथ दिल्ली जाने को तैयार हो गया।

इसके बाद दिव्यांग गोपाल अपने बच्चे को लेकर दिल्ली जाने की तैयारी में जुट गया। The News Sense की मदद से दिल्ली तक जाने का टिकट बना। अब समस्या थी खर्च के लिए पैसे की। The News Sense ने एक समाजसेवी से संपर्क कर मदद की अपील की जिसके बाद समाज सेवी राजेश अग्रवाल (दिलीप मशीनरी मार्ट, मेन रोड, लातेहार) ने तत्काल गोपाल को दो हजार रुपये की आर्थिक मदद की।

इसी दौरान सतबरवा के समाजसेवी अतुल कुमार ने फिल्म अभिनेता सोनू सूद से दिव्यांग गोपाल के बच्चे को मदद करने की अपील की। जिसपर संज्ञान लेते हुए सोनू सूद ने बच्चे के इलाज के लिए तत्काल 20 हजार रुपये सहयोग राशि के रूप में दिया।

20 जनवरी 2022 की रात दिल्ली जाने की तैयारी। अब समस्या थी कि एक्सप्रेस ट्रेन का ठहराव लातेहार स्टेशन पर दो ही मिनट का है, दिव्यांग माता-पिता अपने कैंसर पीड़ित बच्चे को लेकर ट्रेन पर चढ़ेंगे कैसे?

फिर से गोपाल ने The News Sense के एडमिन को इस बात की जानकारी दी। जिसके बाद लातेहार सदर थाना के इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता से संपर्क कर मदद की अपील की गई ।

The News Sense की अपील को गंभीरता से लेते हुए थाना प्रभारी ने त्वरित कार्रवाई करते हुए गश्ती दल को लातेहार स्टेशन भेजा। गश्ती दल ने रात 11 बजे गोपाल के परिवार को सुरक्षित ट्रेन पर बैठाया। 22 जनवरी को वह सुरक्षित दिल्ली एम्स पहुँच गया।

दिल्ली एम्स में काफी भटकने के बाद जब किसी ने उसकी मदद नहीं की तो फिर से इस बात की जानकारी The News Sense को दी। जानकारी मिलते ही चतरा सांसद सुनील कुमार सिंह के लातेहार प्रतिनिधि विनीत मधुकर से संपर्क किया।

विनीत मधुकर ने सांसद के पीए प्रभु दयाल का नंबर दिया और सम्पर्क करने की बात कही। दूसरे दिन गोपाल ने सांसद के पीए प्रभु दयाल से सम्पर्क किया तो उन्होंने उसकी मदद की और एम्स का कार्ड बनवाकर डॉक्टर का अपॉइंटमेंट दिलवाया।

लम्बे इंतजार के बाद चिकित्सक ने उसके बच्चे की जांच की और कीमो थेरेपी की सलाह दी। काफी प्रयास के बाद आज से गोपाल के बच्चे का इलाज शुरू हो गया है। The News Sense ईश्वर से प्रार्थना करता है कि दिव्यांग गोपाल अपने बच्चे का इलाज कराकर सही सलामत घर वापस लौट आये।

https://thenewssense.in/category/latehar

https://www.facebook.com/newssenselatehar


Leave a Reply

Your email address will not be published.