Breaking :
||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख||चतरा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भारी मात्रा में सामान और हथियार बरामद||लातेहार: दशहरा व दुर्गा पूजा को लेकर मिठाई व फास्ट फूड दुकानों की हुई जांच, पांच दुकानों पर कार्रवाई, लगा जुर्माना||पलामू सिविल सर्जन 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, बिल भुगतान के एवज में मांगी थी रिश्वत

रांची में नकली नोटों के तस्कर को पकड़ने गई दिल्ली पुलिस पर ग्रामीणों ने किया हमला, बनाया बंधक

'

करीब चार लाख के नकली नोट जब्त

रांची : नकली नोट के तस्कर को पकड़ने रांची के कांके पहुंची दिल्ली पुलिस की टीम पर शनिवार को ग्रामीणों ने हमला कर दिया। उन्होंने तस्करों को ले जा रही पुलिस टीम से न सिर्फ हाथापाई की बल्कि उन्हें बंधक भी बना लिया।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

दिल्ली पुलिस की टीम शनिवार को कांके प्रखंड के पिठोरिया थाना स्थित बाढ़ू गांव में छापेमारी करने पहुंची थी। सूचना मिलने पर रांची पुलिस के आने के बाद दिल्ली पुलिस की टीम को मुक्त कराया जा सका।

Kidzee Ad

इस दौरान पुलिस ने 3.75 लाख से अधिक के नकली नोटों के साथ एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया है. जब्त किए गए नकली नोट पांच सौ रुपये के हैं। इस मामले में गिरफ्तार आरोपी का नाम तसव्वर है और वह बाढ़ू गांव का रहने वाला है। पुलिस ने नकली नोटों का इस्तेमाल करने वाले गढ़वा के वकील अहमद उर्फ मौलाना को दिल्ली से गिरफ्तार किया था। उसके कहने पर दिल्ली पुलिस की टीम शनिवार को पिठोरिया के बाढ़ू गांव में तसव्वर को गिरफ्तार करने पहुंची।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

उसकी गिरफ्तारी के बाद दिल्ली और रांची पुलिस ने तसव्वर से पूछताछ की। उन्होंने बताया कि पिठोरिया के मुन्ना नाम का शख्स उन्हें नकली नोट मुहैया कराता है। पुलिस मामले की जांच कर रही है इस मामले में पुलिस को कई अहम सुराग हाथ लगे हैं।

दिल्ली पुलिस स्टेशन को बिना बताए छापे मारने आई थी। सभी पुलिसकर्मी सादे कपड़ों में थे। इसके साथ ही एक वकील अहमद भी था, जिसे दिल्ली में गिरफ्तार किया गया था। ग्रामीणों ने पुलिस को अपहरणकर्ता समझकर घेर लिया। पुलिसकर्मी जब तस्वीर को कार में बैठा रहे थे तो ग्रामीणों ने हाथापाई शुरू कर दी। सूचना मिलने के बाद पुलिस पिठोरिया थाने से पहुंची और दिल्ली पुलिस की टीम व तसव्वर को पिठोरिया थाने ले आई।