Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Monday, April 22, 2024
बरवाडीहलातेहार

दिवंगत MPW विनायक कुमार की पत्नी को संघ ने दी सहयोग राशि

लातेहार : बरवाडीह सीएचसी के समुदायिक भवन में दिवंगत MPW विनायक कुमार की पत्नी को एमपीडब्ल्यू कर्मचारी संघ ने सहायता राशि दी है। जनवरी माह में उनका निधन हो गया था।

संघ के प्रयास से जिले के सभी स्वास्थ्य कर्मियों ने सहयोग राशि इकट्ठा कर उनकी पत्नी को चिकित्सा पदाधिकारी डॉ जेपी साहू की उपस्थिति में 32 हजार 323 रुपये नगद दिया। मौके पर एमपीडब्ल्यू कर्मचारी संघ एवं समस्त स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।

सहयोग राशि इकट्ठा करने में संतोष कुमार, अनुज कुमार, मनीष कुमार, मनोज कुमार, विकास तिवारी, गुलाम सरोवर, विशाल कुमार, जावेद अंसारी , चंद्रमोहन , राबि प्रकाश मनोहर कुमार सिंह , संजय कुमार सिंह, संजीव कुमार, डॉ विकास कुमार समेत सभी BPM, DPM, ANM व सहिया ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

संघ के लोगों ने बताया कि दिवंगत MPW विनायक अपने पीछे एक नन्हा सा बच्चा छोड़ गए हैं। जिसका पालन पोषण का सारा जिम्मा उनकी पत्नी के कन्धों पर है। वे अनुबंध पर एमपीडब्ल्यू के पद पर कार्यरत थे। निधन के बाद से अभी तक सरकार के द्वारा उनकी पत्नी या बच्चे किसी तरह की कोई सरकारी सहायता नहीं दी गयी है।

जबकि करोना जैसे महामारी में सभी अनुबंध कर्मी एवं एनजीओ कर्मी अल्प मानदेय में अपनी जान जोखिम में डालकर कार्य किया और सरकार के सभी कार्यक्रमों का सफल संचालन भी किया। लेकिन सरकार अनुबंध कर्मी के प्रति सौतेला व्यवहार कर रही है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें