Breaking :
||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी||लातेहार: नहाने के दौरान तालाब में डूबने से दस वर्षीय बच्चे की मौत, शव की तलाश में जुटे ग्रामीण
Friday, June 14, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: JJMP के एरिया कमांडर ने पुलिस के सामने किया सरेंडर, बड़े भाई के एनकाउंटर में मारे जाने के बाद हुआ था शामिल

लातेहार : उग्रवादी संगठन झारखंड जनमुक्ति परिषद (JJMP) के एरिया कमांडर सत्येंद्र उरांव उर्फ़ अभिमन्यु उर्फ़ मामा ने गुरुवार को पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। सतेंद्र उरांव मुख्य रूप से पलामू जिले के पांकी थाना क्षेत्र के इरगू गांव का रहने वाला है। लातेहार एसपी कार्यालय के सभागार में आयोजित सादे समारोह में उसने एसपी अंजनी अंजन और सीआरपीएफ 11 बटालियन के कमांडेंट वेद प्रकाश त्रिपाठी के सामने सरेंडर कर दिया। पुलिस अधिकारियों ने उसे गुलदस्ता देकर सम्मानित किया।

Kidzee Latehar
Kidzee Latehar

पिछले चार साल से एरिया कमांडर के पद पर था सक्रिय

एसपी अंजनी अंजन ने बताया कि सत्येंद्र उरांव पिछले चार साल से जेजेएमपी संगठन के एरिया कमांडर के पद पर सक्रिय था। इस पर वर्ष 2021 में सदर थाना क्षेत्र के नावाडीह जंगल में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में शामिल होने का मामला भी दर्ज किया गया था। इस मुठभेड़ में एक बड़े अधिकारी शहीद हुए थे। इसके अलावा अन्य कई मुठभेड़ों में भी शामिल होने का आरोप था।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

सीआरपीएफ अधिकारियों से किया संपर्क

एसपी ने कहा कि उग्रवादियों से मोहभंग होने के बाद इसने सीआरपीएफ 11 बटालियन के कमांडेंट वेद प्रकाश त्रिपाठी और अन्य अधिकारियों से संपर्क किया और गुरुवार को सरेंडर करने की जानकारी ली। एसपी ने क्षेत्र में सक्रिय अन्य नक्सलियों से भी सरकार की आत्मसमर्पण नीति का लाभ उठाने और पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करने की अपील की है।

मुठभेड़ में मारा गया था बड़ा भाई हरदयाल

सरेंडर करने वाले उग्रवादी सत्येंद्र ने बताया कि उसका बड़ा भाई हरदयाल उरांव भी उग्रवादी संगठन में शामिल था। लेकिन साल 2019 में एक मुठभेड़ में वह मारा गया। इसके बाद वह उग्रवादियों के संपर्क में आया और संगठन से जुड़ गया। लेकिन बाद में उसे लगा कि ये रास्ता सिर्फ बर्बादी के लिए है, इसलिए उसने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

अधिकारियों ने किया सम्मानित

सरेंडर करने के बाद उग्रवादी सत्येंद्र उरांव को एसपी व अन्य अधिकारियों ने गुलदस्ता देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर सीआरपीएफ 11 बटालियन के कमांडेंट वेद प्रकाश त्रिपाठी, सेकेंड इन कमांड ऑफिसर विनोद कनौजिया, पुलिस इंस्पेक्टर चंद्रशेखर चौधरी सहित अन्य मौजूद थे।

Latehar JJMP area commander surrendered