Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: नाबालिग बनी मां, स्वस्थ्य बच्ची को दिया जन्म, 46 वर्षीय पड़ोसी ने किया था दुष्कर्म

पलामू : जिले के नावाजयपुर थाना क्षेत्र की दुष्कर्म पीड़िता ने एक बच्ची को जन्म दिया है। बच्चे को जन्म देने वाली लड़की नाबालिग है। एमआरएमसीएच मेदिनीनगर में नॉर्मल डिलीवरी हुई। जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। एमआरएमसीएच मेदिनीनगर से नाबालिग लड़की और उसके बच्चे को बालिका गृह में रखा जायेगा। नाबालिग लड़की के साथ उसके 46 वर्षीय पड़ोसी ने दुष्कर्म किया था। मामले का खुलासा तब हुआ जब दुष्कर्म पीड़िता गर्भवती हो गयी।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

दरअसल, जिले के नावाजयपुर थाना क्षेत्र की 15 वर्षीय पीड़िता अपने पड़ोस में पानी लेने जाती थी। आरोप है कि इसी दौरान 46 वर्षीय पड़ोसी ने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। साथ ही मामले की जानकारी किसी को देने पर जान से मारने की धमकी दी थी। दुष्कर्म के चार माह बाद पीड़िता गर्भवती हो गयी। इसके बाद उन्होंने घटना की जानकारी परिजनों को दी। उधर, सूचना मिलने के बाद पीड़िता के पिता ने नावाजयपुर थाने में आवेदन देकर आरोपी के खिलाफ पॉक्सो और दुष्कर्म की गंभीर धाराओं में प्राथमिकी दर्ज करायी है।

पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। आरोपी अभी जेल में है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ जांच करते हुए कोर्ट में फाइनल चार्जशीट भी दाखिल कर दी है। दुष्कर्म की प्राथमिकी के बाद से पीड़िता बालिका गृह में रह रही थी। प्रसव पीड़ा के बाद नाबालिग को एमआरएमसीएच में भर्ती कराया गया, जहां उसने एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया।

नवजात बच्ची का कराया जायेगा DNA टेस्ट

पुलिस नवजात का डीएनए टेस्ट भी कराएगी। जच्चा-बच्चा को बाल कल्याण समिति की निगरानी में रखा जायेगा। इस संबंध में जिला बाल संरक्षण अधिकारी प्रकाश कुमार ने बताया कि जच्चा-बच्चा के स्वास्थ्य पर नजर रखी जा रही है। 18 साल पूरे होने के बाद पीड़िता बच्चे के बारे में फैसला लेगी। पलामू जिले की यह तीसरी घटना है, जब कोई नाबालिग मां बनी है।

Palamu crime news today