Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहारहेरहंज

लातेहार: दस वर्षों से फरार माओवादी सबजोनल कमांडर के दस्ते का सदस्य बुधराम सिंह खरवार गिरफ्तार

नितीश यादव/हेरहंज

लातेहार : प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी का पूर्व वांक्षित दस्ता सदस्य बुधराम सिंह खरवार उर्फ बुटन सिंह पिता रामेश्वर सिंह ग्राम सासंग (हेरहंज) को हेरहंज पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

हेरहंज थाना प्रभारी शुभम कुमार ने बताया कि बुधराम सिंह खरवार उर्फ बुटन सिंह पहले नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के सबजोनल कमांडर लवकेश जी के दस्ते में काम कर चुका है। इसके खिलाफ विस्फोटक पदार्थ से विस्फोट कर हत्या के मामले में केस दर्ज था। इस पर परदेशी लोहरा पिता बिलोखन लोहरा (हेरहंज, बंदुआ) के हत्या का आरोप है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

थाना प्रभारी ने बताया कि वह दस साल से फरार था। इसके खिलाफ कोर्ट द्वारा कई बार सरेंडर करने के लिए नोटिस जारी किया गया था। एक माह पूर्व थाने द्वारा इश्तेहार भी चिपकाया गया था। इसके बावजूद उसने आत्मसमर्पण नहीं किया।

इसी बीच गुप्त सूचना पर पुलिस ने विशेष अभियान चलाकर गुरुवार की रात उसे उसके घर सासंग से गिरफ्तार कर लिया। इसके विरुद्ध हेरहंज थाना कांड संख्या 18/13 धारा 147, 48, 49, 302, 201 भादवि 3/4 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम 17 सीएल एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जेल भेज दिया गया।