Breaking :
||झारखंड में भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, 20 जून तक मानसून करेगा प्रवेश||पलामू: बालिका गृह में दुष्कर्म पीड़िता की बहन की मौत, मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में हुआ पोस्टमार्टम||सतबरवा प्रखंड के रैयतों ने सांसद से की मुलाकात, उचित मुआवजा दिलाने की मांग||पलामू में तीन अलग-अलग सड़क हादसों में तीन की मौत, नेतरहाट घूमने जा रहा एक पर्यटक भी शामिल||केंद्रीय मंत्री शिवराज व असम के मुख्यमंत्री हिमंता झारखंड विधान सभा चुनाव में भाजपा का करेंगे बेड़ापार||झारखंड में पांच नक्सली ढेर, एक महिला नक्सली समेत दो गिरफ्तार, हथियार बरामद||अब स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग स्कूली बच्चों को नशीले पदार्थो के सेवन से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में करेगा जागरूक||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर
Tuesday, June 18, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडल

गढ़वा : थ्रेशर में फंस कर युवक की दर्दनाक मौत, टुकड़ों में बंटा शरीर

गढ़वा जिले में शनिवार को एक बहुत ही दर्दनाक हादसा हुआ। गेहूं की थ्रैसिंग कर रहे एक युवक थ्रैसर में फंस गया। कमर से उपर का पूरा शरीर थ्रैसर के भीतर घुस गया और शरीर टुकड़ों में बंट गया। जिसने भी शव को देखा उसके रोंगटे खड़े हो गए।

यह दर्दनाक घटना गढ़वा जिला मुख्यालय से करीब 55 किमी दूर भंडारिया थाना क्षेत्र के जिनेवा गांव की है। मृतक की पहचान 22 वर्षीय युवक पप्पू गोंड के रूप में हुई है। थ्रेसर में फंसने से उसका शरीर कई टुकड़ों में कट कर बंट गया। हादसा शनिवार सुबह करीब 11.30 बजे हुआ।

जानकारी के अनुसार पप्पू थ्रेशर से गेहूं काट रहा था। वह खुद गेहूं का भार उठाकर थ्रेसर में डाल रहा था। इसी दौरान उसके दोनों हाथ थ्रेसर में फंस गए। आसपास खड़े उसके परिजन जब तक कुछ समझ पाते, तब तक बहुत देर हो चुकी थी। देखते ही देखते युवक का पूरा शरीर थ्रेसर में घुस गया। इससे पप्पू का पूरा शरीर कई हिस्सों में कट गया और शरीर मांस की एक गांठ जैसा हो गया। थ्रेशर के बाहर से केवल उसके पैर दिखाई दे रहे थे।

इसे भी पढ़ें :- गढ़वा : बारातियों के पंडाल में लगी आग, पास के खलिहानों में रखे लाखों का अनाज भी जला

हादसे के बाद थ्रेशर को बंद कर दिया गया था। परिजनों के रोने से पूरे गांव में मातम छाया रहा। बाद में थ्रेसर में फंसे पप्पू के शव को निकालने का काफी प्रयास किया गया लेकिन उसे निकाला नहीं जा सका। पुलिस के पहुंचने के बाद लोगों ने नट बोल्ट को थ्रेशर से खोलकर उसके शरीर के बाकी हिस्से को बाहर निकाला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और जांच के लिए थ्रेसर ले लिया है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

image source – file photo