Breaking :
||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 28 फरवरी को आयेंगी रांची, सुरक्षा के रहेंगे कड़े इंतजाम||झारखंड: अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर युवती से किया दुष्कर्म, धर्म परिवर्तन कराकर जबरन करा दी शादी||लातेहार: बालूमाथ में लोडेड देशी पिस्टल के साथ दो युवक गिरफ्तार, कार जब्त||पीएम मोदी ने समुद्र में लगायी डुबकी, जलमग्न कृष्ण की नगरी द्वारका को देखा||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल
Monday, February 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू की महिला विधायक पर सार्वजनिक मंच पर हेमंत सोरेन की टिपण्णी से भाजपा में आक्रोश, कहा- महिलाओं का सम्मान करना भूल गये हैं मुख्यमंत्री

पलामू : मेदिनीनगर के पुलिस स्टेडियम में आयोजित ‘आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार’ कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन। छतरपुर से भाजपा विधायक पुष्पा देवी को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के ‘चुपके-चुपके बंद कमरे में मिलने’ वाले बयान पर भाजपा में आक्रोश है। भाजपा ने इसे महिलाओं का अपमान बताते हुए मुख्यमंत्री पर जमकर हमला बोला।

शनिवार को भाजपा के जिला कार्यालय में जिलाध्यक्ष विजयानंद पाठक एवं छतरपुर विधायक पुष्पा देवी ने संयुक्त रूप से प्रेस वार्ता को संबोधित किया। विधायक पुष्पा ने कहा कि सीएम का बयान अशोभनीय और अपमानजनक है। एक जिम्मेदार और प्रतिष्ठित पद पर बैठकर ऐसा बयान देना महिलाओं का अपमान दर्शाता है।’ छतरपुर विधानसभा क्षेत्र की समस्या को लेकर उनसे मिलने के लिए दिनदहाड़े सर्किट हाउस में मुलाकात की थी। मांग पत्र सौंपा गया। स्थानीय समस्याओं को लेकर कोई विधायक मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री से नहीं मिलेगा तो किससे मिलेगा?

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

विधायक ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री को लगता है कि वह किसी विपक्षी विधायक का काम नहीं करना चाहते या उनसे मिलना नहीं चाहते और सिर्फ उनका अपमान करना चाहते हैं तो उन्हें लिखित में देना चाहिए। विपक्ष का कोई भी विधायक उनसे मिलने की कोशिश नहीं करेगा लेकिन अगर वह सार्वजनिक मंच पर अशोभनीय टिप्पणी करेंगे तो यह बेहतर नहीं होगा। अनपढ़ ऐसी बयानबाजी नहीं करते हैं, आप पढ़े-लिखे हैं और सीएम पद को सुशोभित कर रहे हैं।

छतरपुर विधायक पर तंज कसने के मामले में भाजपा जिला अध्यक्ष विजयानंद पाठक ने कड़ी आपत्ति जतायी और कहा कि मुख्यमंत्री महिलाओं का सम्मान करना भूल गये हैं। हाल ही में लोहरदगा जिले में भी महिलाओं के बारे में अपमानजनक बातें कही गयी थीं। मेदिनीनगर के कार्यक्रम में भी छतरपुर विधायक को लेकर दिया गया बयान महिलाओं के सम्मान के खिलाफ है। एक जनप्रतिनिधि होने के नाते विधायक पुष्पा देवी सक्रिय होकर अपनी मांगों को लेकर सर्किट हाउस में मुख्यमंत्री से मिलने गयी थीं, लेकिन मुख्यमंत्री ने इस मुद्दे को कार्यक्रम में रखकर विधायक का मजाक उड़ाया। मुख्यमंत्री को अपने बयान के लिए विधायक पुष्पा देवी से माफी मांगनी चाहिए।

इस मौके पर भाजपा नेता और पूर्व सांसद मनोज कुमार, उदय शुक्ला समेत कई पार्टी नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

BJP Palamu Latest News