Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Monday, April 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने सीएम हेमंत पर बोला हमला, कहा- ED के डर से हवाई चप्पल पहने चादर से मुंह ढककर चोर की तरह पैदल भागे मुख्यमंत्री

रांची : भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने सोमवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरन पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि ईडी के डर के मारे झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पिछले अठारह घंटे से दिल्ली वाले मुख्यमंत्री आवास से फरार हो कर भूमिगत हो गये हैं।

मरांडी ने सोशल मीडिया एक्स पर एक बयान जारी कर कहा कि मीडिया सूत्रों के मुताबिक देर रात हेमंत हवाई चप्पल पहने हुए चादर से मुंह ढककर चोर की तरह आवास से पैदल निकल कर भागे हैं। उनके साथ दिल्ली गये स्पेशल ब्रांच का सुरक्षाकर्मी अजय सिंह भी गायब है। इन दोनों का मोबाइल भी बंद है। तब से इन्हें ईडी और दिल्ली पुलिस ढूंढ रही है। मुख्यमंत्री की सुरक्षा के साथ इतनी बड़ी लापरवाही का कोई दूसरा उदाहरण नहीं हो सकता।

मरांडी ने कहा कि इससे चिंताजनक और लज्जाजनक क्या हो सकता है कि संवैधानिक पद पर बैठा एक राज्य का मुख्यमंत्री प्रोटोकॉल तोड़कर चोर-डकैत की तरह फरार हो जाये, राज्य को भगवान भरोसे छोड़ दे। मुख्यमंत्री की फरारी में राज्य का नेतृत्वकर्ता कौन? यह संवैधानिक सवाल अहम है।

उन्होंने कहा कि राज्यपाल सीपी राधाकृष्णनजी इसका संज्ञान लें और राज्य में विधि सम्मत कानून का राज कायम रखने के लिए समुचित कदम उठायें।

Jharkhand Breaking News Today