Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: महाशिवरात्रि पर बने तोरण द्वार विवाद में दो गुटों में झड़प, उपायुक्त ने की शांति बनाये रखने की अपील, निषेधाज्ञा लागू

अरुनीष सिंह/पलामू

पलामू : जिले के पांकी क्षेत्र में महाशिवरात्रि पर बने तोरण द्वार विवाद में बुधवार को दो गुट आपस में भिड़ गये। दो गुटों के बीच जमकर पथराव हुआ है। बीच बचाव करने गये पुलिस कर्मी भी घायल हो गये। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस के वरीय अधिकारी मौके पर पहुंचे। इसके अलावा पलामू एसपी चंदन कुमार सिन्हा खुद मौके पर कैंप कर रहे हैं।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जानकारी के अनुसार पलामू के पांकी क्षेत्र में महाशिवरात्रि के लिए तोरण द्वार को लेकर दो गुटों में विवाद हो गया। इस विवाद को लेकर बुधवार को दोनों गुट जमा हो गये। इसी दौरान उनके बीच विवाद बढ़ गया और दोनों पक्षों से जमकर पथराव हुआ। इस पथराव में 12 से ज्यादा लोग घायल हो गये। जबकि मौके पर बचाव के लिए पहुंची पुलिस पर भी पथराव हुआ, जिसमें कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गये।

लेस्लीगंज एसडीपीओ आलोक कुमार टूटी ने बताया कि कई थानों की पुलिस मौके पर स्थिति संभाल रही है। पांकी इंस्पेक्टर अरुण कुमार महथा व थाना प्रभारी रंजीत कुमार यादव के नेतृत्व में मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। पांकी के लिए आसपास के इलाकों से भी भारी संख्या में पुलिस बल भेजा गया है।

स्थानीय लोगों ने बताया कि मौके पर पेट्रोल-बम का भी इस्तेमाल किया गया है। ग्रामीणों के अनुसार पांकी चौक के पास तोरणा गेट निर्माण को लेकर मंगलवार को यह विवाद हुआ। बुधवार को विवाद और बढ़ गया।

घायल लोगों को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं पुलिसकर्मियों का भी इलाज चल रहा है। जिस इलाके में यह घटना हुई वह पलामू प्रमंडल मुख्यालय मेदिनीनगर से करीब 45 किलोमीटर दूर है। जिला मुख्यालय से बड़ी संख्या में प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी भी पहुंच चुके हैं। पुलिस ने पूरे इलाके में पेट्रोलिंग शुरू कर दी है। इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। पांकी, पिपराटांड़, तरहसी, मनातू समेत कई थानों की पुलिस को इलाके में तैनात किया गया है।

उपायुक्त ने लोगों से की शांति बनाये रखने की अपील

पांकी में बुधवार को दो गुटों के बीच हुए तनाव के बाद उपायुक्त अंजनेयुलु दोड्डे ने लोगों से किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है। सोशल मीडिया पर कोई अफवाह फैलाता पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

निषेधाज्ञा लागू

बहरहाल, विवाद के कारण उत्पन्न हुई कानून-व्यवस्था की स्थिति शांतिपूर्ण और नियंत्रण में है। जिला प्रशासन स्थिति पर पैनी नजर रखे हुए है। पुलिस पदाधिकारी सहित प्रशासनिक अधिकारी फोर्स के साथ घटना स्थल पर डेरा डाले हुए हैं। पूरे इलाके में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गयी है। सोशल मीडिया पर भी कड़ी निगरानी की जा रही है।

पलामू पांकी तनाव झड़प